Dasna Jail Corona Free: डासना जेल में 6 महीने में 90 संक्रमित बन्दियों ने दी कोरोना को मात, कोरोना से फ्री हुई जेल – in dasna jail 90 infected prisoners beat corona in 6 months jailed free from corona

[ad_1]

तेजेश चौहान,गाजियाबाद
गाजियाबाद की डासना जेल की प्रदेश की प्रमुख जेल में गिनती होती है। डासना जेल में भी कोरोना ने 90 बंदियों को अपनी चपेट में लिया था।लेकिन जेल प्रशासन ने कोरोना की जांच , ट्रेसिंग और संक्रमित बंदियों को इलाज समय पर मुहैया कराया।वहीं बंदियों के खानपान का भी विशेष ख्याल रखा गया।जिसका नतीजा यह निकला है। कि पिछले 6 महीने में 90 बंदियों ने कोरोना की जंग जीत ली है। इतना ही नहीं कोरोना के सेकंड फेस में डासना की जेल कोरोना फ्री हो गई है।

6 महीने में 90 बंदियों ने दी कोरोना को मात
बताते चलें कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक कुल 54671 लोग कोविड-19 को मात दे चुके हैं।जबकि 457 लोगों की मौत हो चुकी है।वर्तमान में 275 लोगों का उपचार अभी जारी है। तो वहीं डासना जेल में 90 ऐसे बंदी हैं,जो कोरोना को हरा चुके हैं।बड़ी बात यह है कि जेल में कोरोना के कारण एक भी मौत नहीं हुई है।जेल प्रशासन के आंकड़ों के मुताबिक कोरोना के सेकेंड फेस में जेल में बंद करीब 90 बंदी संक्रमित हुए थे। जिन्हें लगातार काढ़ा, दवाई, समय पर दी गई। साथ ही उनकी इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए व्यायाम कराने का भी यहां सिस्टम बनाया गया। इसके अलावा जेल परिसर में सभी बंदियों की समय पर जांच और ट्रेसिंग भी लगातार की गई।जिसका परिणाम यह निकला कि जून के दूसरे सप्ताह में डासना जेल कोरोना फ्री हो गई है।वर्तमान में जेल में एक भी संक्रमित मरीज नहीं है।

डासना जेल प्रदेश की प्रमुख जेल में है शामिल
जेल सुपरिंटेंडेंट आलोक कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना के दूसरे फेस के दौरान जेल में 6 माह में 90 बन्दी संक्रमित हुए थे। जिनकी समय और जांच उनका पूरा उपचार समय से किया गया और पूरी देखरेख की गई ।उनकी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए जेल में आयुर्वेदिक काढ़ा और व्यायाम का भी इंतजाम किया गया। साथ ही उनके खान पान पर भी विशेष ध्यान दिया गया। जेल परिसर को समय-समय पर लगातार सैनिटाइज किया गया। इस दौरान कई बंदी तो योग करने के बाद ही निरोग बने। उन्होंने बताया कि डासना जेल प्रदेश की प्रमुख जेल में शामिल है। क्योंकि जेल में कुछ हाई प्रोफाइल मामलों से जुड़े भी बंदी मौजूद हैं। इसलिए सुरक्षा व्यवस्था चाक-चबंद रखते हुए समय-समय पर जिला प्रशासन और जेल से जुड़े अधिकारी लगातार निगरानी करते हैं। उन्होंने बताया कि जेल में सभी बंदियों को वैक्सीन की पहली डोज भी लग चुकी है और दूसरी डोज दिए जाने का कार्य चल रहा है जो जल्द ही शुरू हो जाएगा।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!