Free Coaching, Accommodation In Kota For Students Who Lost Parents To Covid – कोरोना काल: कोविड-19 के कारण अनाथ हुए छात्रों को कोटा में मिलेगी फ्री कोचिंग


एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Published by: ललित फुलारा
Updated Thu, 20 May 2021 11:29 AM IST

ख़बर सुनें

मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे ऐसे छात्र जिन्होंने वैश्विक कोरोना महामारी की वजह से अपने अभिभावकों को खो दिया है, उनको राजस्थान के कोटा में फ्री में कोचिंग प्रदान की जाएगी। ऐसे छात्रों को भी मुफ्त में इंजीनियरिंग एवं मेडिकल की कोचिंग मिलेगी जिनके परिवार में कमाने वाला एक ही सदस्य था और जिसे कोविड-19 के कारण परिवार ने खो दिया। इस बात की घोषणा लोक सभा स्पीकर ओम बिड़ला ने की है।

इसे भी पढ़ें-आईपी यूनिवर्सिटी: एमबीए दाखिले के लिए आवेदन की अंतिम  तिथि बढ़ी

उन्होंने देश में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोचिंग हब माने जाने वाले कोटा शहर के कोचिंग संस्थानों के निदेशकों के साथ बैठक की और उनसे इस चुनौतीपूर्ण समय में जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आने का अनुरोध किया।

इसे भी पढ़ें-शिक्षा मंत्री: आईआईटी, एनआईटी के निर्देशकों के साथ बैठक आज, कोरोना प्रबंधन पर करेंगे चर्चा

बिड़ला के अनुरोध पर कोचिंग संस्थान देश भर के उन छात्रों को मुफ्त कोचिंग, आवास और भोजन प्रदान करने पर सहमत हुए, जिन्होंने कोरोना वायरस की वजह से अपने माता-पिता या परिवार के कमाने वाले सदस्य को खो दिया है। ओम बिड़ला के साथ बैठक के दौरान कोटा के ही एक प्रमुख कोचिंग संस्थान के निदेशक नवीन माहेश्वरी ने घोषणा की कि उनका संस्थान कोरोना महामारी से प्रभावित परिवारों की मदद के लिए 50 लाख रुपये का राहत कोष स्थापित करेगा।

विस्तार

मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे ऐसे छात्र जिन्होंने वैश्विक कोरोना महामारी की वजह से अपने अभिभावकों को खो दिया है, उनको राजस्थान के कोटा में फ्री में कोचिंग प्रदान की जाएगी। ऐसे छात्रों को भी मुफ्त में इंजीनियरिंग एवं मेडिकल की कोचिंग मिलेगी जिनके परिवार में कमाने वाला एक ही सदस्य था और जिसे कोविड-19 के कारण परिवार ने खो दिया। इस बात की घोषणा लोक सभा स्पीकर ओम बिड़ला ने की है।

इसे भी पढ़ें-आईपी यूनिवर्सिटी: एमबीए दाखिले के लिए आवेदन की अंतिम  तिथि बढ़ी

उन्होंने देश में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोचिंग हब माने जाने वाले कोटा शहर के कोचिंग संस्थानों के निदेशकों के साथ बैठक की और उनसे इस चुनौतीपूर्ण समय में जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आने का अनुरोध किया।

इसे भी पढ़ें-शिक्षा मंत्री: आईआईटी, एनआईटी के निर्देशकों के साथ बैठक आज, कोरोना प्रबंधन पर करेंगे चर्चा

बिड़ला के अनुरोध पर कोचिंग संस्थान देश भर के उन छात्रों को मुफ्त कोचिंग, आवास और भोजन प्रदान करने पर सहमत हुए, जिन्होंने कोरोना वायरस की वजह से अपने माता-पिता या परिवार के कमाने वाले सदस्य को खो दिया है। ओम बिड़ला के साथ बैठक के दौरान कोटा के ही एक प्रमुख कोचिंग संस्थान के निदेशक नवीन माहेश्वरी ने घोषणा की कि उनका संस्थान कोरोना महामारी से प्रभावित परिवारों की मदद के लिए 50 लाख रुपये का राहत कोष स्थापित करेगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!