Gujarat Board Gseb Ssc Exams 2021 Cancelled Class 10 Students To Be Given Mass Promotion – गुजरात बोर्ड परीक्षा 2021: 10वीं की परीक्षा रद्द, बिना परीक्षा ऐसे पास होंगे छात्र


एजुकेशन डेस्क, अमर उजाला
Published by: ललित फुलारा
Updated Fri, 14 May 2021 11:53 AM IST

बोर्ड परीक्षा न्यूज अपडेट
– फोटो : अमर उजाला ग्राफिक्स

ख़बर सुनें

गुजरात बोर्ड ने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द कर दिया है। अब दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा। यह फैसला गुरुवार को सूबे के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की बैठक में लिया गया। सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण की वजह से इस वक्त दसवीं कक्षा की परीक्षाओं का आयोजित संभव नहीं है। इसलिए दसवीं के छात्रों को बिना परीक्षा के ही पास किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021: कोरोना की वजह से रद्द हो सकती है 12वीं की बोर्ड परीक्षा

हालांकि, गुजरात पहला राज्य नहीं है जिसने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द किया है और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए पास करने की घोषणा की है। इससे पहले सीबीएसई, आईसीएसई बोर्ड सहित कई राज्य बोर्डों ने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द कर दिया है। गुजरात बोर्ड की 10वीं की परीक्षा के लिए 15 लाख छात्रों ने पंजीकरण किया था। अब इन छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इसके अलावा, महाराष्ट्र बोर्ड, मध्य प्रदेश बोर्ड, छत्तीसगढ़ बोर्ड और गोवा बोर्ड ने भी दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द किया है और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए पास करने की घोषणा की है।

इसे भी पढ़ें-करिअर गाइडेंस: अभ्यास से क्लीयर होंगी नीट और जेईई परीक्षाएं, एनटीए ने तैयार किया यह ऐप

हालांकि, गुजरात बोर्ड बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन करेगा। इससे पहले बोर्ड ने दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं का आयोजन 10 मई से लेकर 25 मई तक कराने की घोषणा की थी। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था और उन पर फैसला 15 मई तक लिया जाना था। 13 मई को हुई बैठक में सूबे के मुख्यमंत्री ने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया और छात्रों को बिना परीक्षा के ही पास करने की घोषणा की।

गुजरात बोर्ड ने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द कर दिया है। अब दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा। यह फैसला गुरुवार को सूबे के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की बैठक में लिया गया। सीएम ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण की वजह से इस वक्त दसवीं कक्षा की परीक्षाओं का आयोजित संभव नहीं है। इसलिए दसवीं के छात्रों को बिना परीक्षा के ही पास किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021: कोरोना की वजह से रद्द हो सकती है 12वीं की बोर्ड परीक्षा

हालांकि, गुजरात पहला राज्य नहीं है जिसने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द किया है और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए पास करने की घोषणा की है। इससे पहले सीबीएसई, आईसीएसई बोर्ड सहित कई राज्य बोर्डों ने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द कर दिया है। गुजरात बोर्ड की 10वीं की परीक्षा के लिए 15 लाख छात्रों ने पंजीकरण किया था। अब इन छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इसके अलावा, महाराष्ट्र बोर्ड, मध्य प्रदेश बोर्ड, छत्तीसगढ़ बोर्ड और गोवा बोर्ड ने भी दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द किया है और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के जरिए पास करने की घोषणा की है।

इसे भी पढ़ें-करिअर गाइडेंस: अभ्यास से क्लीयर होंगी नीट और जेईई परीक्षाएं, एनटीए ने तैयार किया यह ऐप

हालांकि, गुजरात बोर्ड बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन करेगा। इससे पहले बोर्ड ने दसवीं और बारहवीं कक्षा की परीक्षाओं का आयोजन 10 मई से लेकर 25 मई तक कराने की घोषणा की थी। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था और उन पर फैसला 15 मई तक लिया जाना था। 13 मई को हुई बैठक में सूबे के मुख्यमंत्री ने दसवीं कक्षा की परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया और छात्रों को बिना परीक्षा के ही पास करने की घोषणा की।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!