Padmashri Dr K K Aggarwal Death: Know About The Renowned Heart Specialist And Surgeon K K Aggarwal Cardiologist – K K Aggarwal Death: ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहते हुए भी की लोगों की मदद, जानिए कौन थे डॉ केके अग्रवाल


सार

मेडिकल के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए साल 2010 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। इसके साथ ही वर्ष 2005 में मेडिकल कैटेगरी के सर्वोच्च पुरस्कार डॉ बीसी रॉय पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।

डॉ के के अग्रवाल
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

सोमवार की रात तकरीबन 11.30 बजे इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) और हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के प्रमुख डॉ केके अग्रवाल का निधन हो गया है। बता दें कि डॉ अग्रवाल ने 28 अप्रैल को ट्वीट कर अपने कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी। जिसके बाद दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था। तबीयत बिगड़ने के चलते कुछ दिन पहले उन्हें वेंटिलेटर  सपोर्ट पर रखा गया था। किंतु 17 मई को देर रात आधिकारिक रूप से यह जानकारी दी गई कि डॉ केके अग्रवाल का कोरोना वायरस से निधन हो गया है। 

 

ऑक्सीजन लगने के बावजूद देते रहे कोरोना से लड़ने के टिप्स
28 अप्रैल को कोरोना संक्रमित होने के बाद भी डॉ अग्रवाल लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को कोरोना से लड़ने के टिप्स दे रहे थे। एक वीडियो में तो वह ऑक्सीजन सप्लाई पर रहते हुए भी कोरोना महामारी से लड़ने की जानकारी देते हुए दिखाई दे रहे हैं। जानिए कौन थे डॉ केके अग्रवाल जिन्होंने अपनी आखिरी सांस तक लोगों को लड़ना सिखाया।

मध्यप्रदेश में रहने वाले एक परिवार के यहां जन्मे डाॅ केके अग्रवाल ने 1979 में नागपुर विश्वविद्यालय से एमबीबीएस पढ़ाई पूरी की। साल 1983 में एमडी करने के बाद डाॅ अग्रवाल ने 2017 तक नई दिल्ली के मूलचंद मेडिसिटी में बतौर सीनियर कंसल्टेंट काम किया है। इस दौरान उन्होंने मेडिकल साइंसेज पर कई सारी किताबें लिखीं हैं। साल 2014 में डॉ अग्रवाल को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष रूप में चुना गया।

मेडिकल के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए साल 2010 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। इसके साथ ही वर्ष 2005 में मेडिकल कैटेगरी के सर्वोच्च पुरस्कार डॉ बीसी रॉय पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें विश्व हिंदी सम्मान, राष्ट्रीय विज्ञान संचार पुरस्कार, फिक्की हेल्थ केयर पर्सनैलिटी ऑफ द ईयर अवार्ड, डॉ डीएस मुंगेकर राष्ट्रीय आईएमए पुरस्कार और राजीव गांधी उत्कृष्टता पुरस्कार भी प्राप्त कर चुके हैं। 

कोरोना काल में डॉ अग्रवाल ने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों की मदद करना शुरू किया। उन्होंने कोरोना क्या है से लेकर इसके इलाज तक की जानकारी आम लोगों तक पहुंचाई। 27 जनवरी को वैक्सीन का पहला डोज लगवाने के बाद भी उन्होंने लाइव आकर लोगों को इसके बारे में जागरूक किया। इसी दौरान उनकी पत्नी का कॉल आया और अकेले वैक्सीन लगवाने पर खफा पत्नी ने लाइव सेशन के दौरान ही उनकी क्लास लगा दी थी। यह वीडियो उस दौरान खूब वायरल हुआ था।

विस्तार

सोमवार की रात तकरीबन 11.30 बजे इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) और हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के प्रमुख डॉ केके अग्रवाल का निधन हो गया है। बता दें कि डॉ अग्रवाल ने 28 अप्रैल को ट्वीट कर अपने कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी। जिसके बाद दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था। तबीयत बिगड़ने के चलते कुछ दिन पहले उन्हें वेंटिलेटर  सपोर्ट पर रखा गया था। किंतु 17 मई को देर रात आधिकारिक रूप से यह जानकारी दी गई कि डॉ केके अग्रवाल का कोरोना वायरस से निधन हो गया है। 

 

ऑक्सीजन लगने के बावजूद देते रहे कोरोना से लड़ने के टिप्स

28 अप्रैल को कोरोना संक्रमित होने के बाद भी डॉ अग्रवाल लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को कोरोना से लड़ने के टिप्स दे रहे थे। एक वीडियो में तो वह ऑक्सीजन सप्लाई पर रहते हुए भी कोरोना महामारी से लड़ने की जानकारी देते हुए दिखाई दे रहे हैं। जानिए कौन थे डॉ केके अग्रवाल जिन्होंने अपनी आखिरी सांस तक लोगों को लड़ना सिखाया।


आगे पढ़ें

नागपुर विश्वविद्यालय से की एमबीबीएस की पढ़ाई





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!