Sakshi Maharaj Survey Post: योगी को फेवरेट बताने के चक्कर में साक्षी महाराज ने बता दी 110 परसेंट जनता की राय..अब हो रहे ट्रोल – sakshi maharaj shared wrong data to say cm yogi favorite choice of up

[ad_1]

हाइलाइट्स

  • सोशल मीडिया पर साक्षी महाराज ने बता दी 110 फीसदी लोगों की राय
  • फेसबुक के पेज पर जारी किया था सर्वे, सीएम योगी को बताया लोगों का फेवरिट
  • पोस्ट वायरल होने के बाद लोगों ने किया ट्रोल, आंकड़ों पर उठाए सवाल

उन्नाव/लखनऊ
चुनाव के पहले के सियासी दांवपेच में कई बार राजनेता ऐसी गलतियां कर देते हैं, जो उन्हें खुद ही लोगों की आलोचना का पात्र बना देती है। 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी के सांसद साक्षी महाराज भी इस बार इसी सूची में शामिल हो गए। सीएम योगी आदित्यनाथ को यूपी की जनता का फेवरिट बताने के चक्कर में साक्षी महाराज ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट की और फिर तमाम यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे।

दरअसल साक्षी महाराज ने गुरुवार को यूपी बीजेपी के हवाले से बना एक ग्राफिक्स अपने ऑफिशल फेसबुक पेज पर शेयर किया। इस पोस्ट में सीएम योगी को यूपी की जनता का फेवरिट सीएम बताते हुए कहा गया था कि 46 फीसदी लोग सीएम योगी को दोबारा सीएम के रूप में देखना चाहते हैं। साक्षी महाराज की इस पोस्ट में बीएसपी चीफ मायावती, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव को लेकर भी आंकड़े दिखाए गए थे।

फेसबुक की पोस्ट पर ट्रोल हो गए साक्षी महाराज

फेसबुक की पोस्ट पर ट्रोल हो गए साक्षी महाराज

सीएम योगी को बताया फेवरिट
साक्षी महाराज ने सर्वे के आधार पर बताया कि 46 फीसदी लोग सीएम योगी को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं। इसके अलावा 22 फीसदी लोग अखिलेश यादव और 28 फीसदी लोग मायावती को मुख्यमंत्री के रूप में चाहते हैं। वहीं 14 फीसदी लोग प्रियंका गांधी को सीएम बनाना चाहते हैं।

…110 फीसदी लोगों की राय
अगर ये सभी आंंकड़े जोड़ें तो ये पूरा आंकड़ा 110 फीसदी लोगों का हो जाता है। लोगों का कहना है कि साक्षी महाराज ने सीएम योगी को फेवरिट बताने के चक्कर में गलत आंकड़े शेयर कर दिए और अब वह ट्रोल हो रहे हैं। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि ये आंकड़े ही गलत हैं और चुनाव में तस्वीर इससे बिलकुल उलट होगी।

23543453245

फेसबुक पोस्ट पर ट्रोल हो रहे साक्षी महाराज

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!