Twitter Leaders Are Defaming Religion, Don’t Fall For Rumours: Keshav Prasad – ट्विटरबाज नेता धर्म को कर रहे बदनाम, अफवाहों में न आएं – केशव प्रसाद

[ad_1]

prayagraj news : सर्किट हाउस में जनसमस्या सुनते डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य।
– फोटो : prayagraj

ख़बर सुनें

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में घोटाले के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया। प्रयागराज प्रवास के दौरान शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री ने इन आरोपों को लेकर विपक्ष के नेताओं पर भी हमले बोले। सर्किट हाउस में जन सुनवाई के दौरान और कार्यकर्ताओं संग बैठक में उप मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्यूटरबाज नेताओं के अफवाहों में ना आएं।

राम मंदिर निर्माण का विरोध करने वाले अब धर्म को बदनाम करने का कुचक्र रच रहे हैं। उन्होंने कहा कि सपा, बसपा, कांग्रेस तथा अन्य दल के नेताओं को लोगों की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं है। कोविड की दूसरी लहर के दौरान भी वे सिर्फ ट्यूटर पर बयान देते रहे। उप मुख्यमंत्री ने दावा किया कि अभी 25 वर्षों तक भाजपा की सरकार रहेगी। पार्टी में जो अभी तक जिला पंचायत सदस्य नहीं बना वह आगे विधायक, एमएलसी बन सकता है। जन सुनवाई के दौरान केशव ने एयरपोर्ट तक बनने वाले फ्लाईओवर समेत अन्य योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

उन्होंने लोगों की समस्याओं के समाधान का भी आश्वासन दिया। उप मुख्यमंत्री विश्व हिंदू परिषद के कार्यालय केशर भवन भी गए और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे शंभूनाथ को श्रद्धांजलि अर्पित की। इससे पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने पुलिस लाइन और सर्किट हाउस में उप मुख्यमंत्री का स्वागत किया। बैठक और स्वागत करने वालों में महानगर अध्यक्ष गणेश केसरवानी, यमुनापार अध्यक्ष विभवनाथ भारती, अवधेश चंद्र गुप्ता, एमएलसी सुरेंद्र चौधरी, विधायक हर्ष वर्धन बाजपेई, रणजीत सिंह, दिलीप कुमार चतुर्वेदी, संजय गुप्ता, पूर्व विधायक दीपक पटेल आदि शामिल रहे।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में घोटाले के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया। प्रयागराज प्रवास के दौरान शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री ने इन आरोपों को लेकर विपक्ष के नेताओं पर भी हमले बोले। सर्किट हाउस में जन सुनवाई के दौरान और कार्यकर्ताओं संग बैठक में उप मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्यूटरबाज नेताओं के अफवाहों में ना आएं।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!