wearable biosensor mask: अब मास्क से ही मिनटों में पता चलेगा Corona है कि नहीं, आ गया खास Biosensor Mask, देखें डीटेल्स – biosensor mask can detect coronavirus, face mask packed with a wearable biosensor price features

[ad_1]

हाइलाइट्स:

  • अमेरिकी वैज्ञानिकों ने बनाया खास मास्क
  • आसानी से हो सकेगी कोरोना की जांच
  • जल्द बिकने लगेंगे ये फ्यूचर मास्क

नई दिल्ली।
Wearable Biosensor Mask Can Detect Coronavirus:
भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वायरस अलग-अलग रूपों से लोगों को काफी परेशान कर रहा है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने ऐसी तबाही मचाई कि लोगों को इसकी कल्पना से ही डर लगने लगा है। भारत में कोरोना वायरस आए डेढ़ साल से ऊपर होने को हैं, लेकिन इसकी टेस्टिंग के मामले में लोगों को अब भी कई परेशानियों से गुजरना पड़ता है। कुछ कंपनियों ने तो हाल के महीनों में घर पर ही संक्रमण का पता लगाने से जुड़े कोरोना टेस्टिंग किट बनाने का दावा किया और इसे ऑनलाइन शॉपिंग साइट पर भी देखा गया। वहीं रैपिड एंटीजेन और आरटीपीसीआर टेस्ट के सस्ते-महंगे विकल्प तो लोगों के पास है ही।

ये भी पढ़ें-20 हजार से कम में 108 MP कैमरा वाले ये स्मार्टफोन्स बनेंगे आपकी पसंद, देखें कीमत और खासियत

पैसे बचेंगे
भारत कोरोना की तीसरी लहर के मुहाने पर है और माहौल बन रहा है। इस बीच एक अच्छी खबर ये आ रही है कि मार्केट में एक नया मास्क आ गया है, जो कि Wearable Biosensor से लैस है और इसमें कोरोना वायरस का पता चल जाता है। इस मास्क को पहनने के बाद सांस लेने पर पता चल जाता है कि यूजर कोरोना वायरस से संक्रमित है या नहीं। इस नई टेक्नॉलजी का आने वाले समय में काफी लाभ मिल सकता है और लोग कोरोना टेस्ट कराने में लगने वाले पैसे भी बचा सकेंगे।

ये भी पढ़ें-लीजिए, लॉन्च से पहले देखिए Samsung के धांसू Smartwatch और Earbuds की कीमत

Wearable Biosensor Mask Can Detect Coronavirus 1

बेहद खास है यह मास्क, जैसे आपके साथ चल रही है लैबोरेटरी

इन्होंने बनाया…
बीते दिनों मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (MIT) और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी स्थित Wyss इंस्टिट्यूट फॉर बायलॉजिकली इंस्पायर्ड इंजिनियरिंग के रिसर्चर्स की टीम ने Wearable materials with embedded synthetic biology sensors for biomolecule detection नाम से पब्लिश स्टडी में दावा किया कि वियरेबल मटीरियल से भी कोरोना वायरस का पता लगाया जा सकता है। इसके बाद उन्होंने बायोसेंसर मास्क बनाया।

ये भी पढ़ें-इस महीने Huawei P50 Series फोन और Huawei Band 6 Pro समेत कई प्रोडक्ट होंगे लॉन्च

Wearable Biosensor Mask Can Detect Coronavirus

फ्यूचर मास्क, होगा काफी कारगर

कैसे काम करता है?
यह मास्क सामान्य KN95 मास्क की तरह ही होता है, जिसमें नए Wearable Biosensor इंस्टॉल कर दिए जाते हैं। दावा किया गया है कि इस मास्क को लगाने के 90 मिनट के अंदर पता चल जाता है कि संबंधित व्यक्ति कोरोना संक्रमित है कि नहीं? मास्क लगाते ही बायोसेंसर एक्टिव हो जाता है और फिर लोगों को कुछ समय बाद पता चल जाता है। इस मास्क को बनाने वालों का दावा है कि इसका एकुरेसी लेवल भी स्टैंडर्ड पीसीआर टेस्ट जितना ही है।

ये भी पढ़ें-Thomson के 32 से 65 इंच Smart TV मॉडल पर बंपर छूट, फ्लिपकार्ट पर कम दाम में खरीदें और पैसे बचाएं

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!